सर्वप्रथम भीलवाड़ा नगर विकास न्यास का गठन 1967 में शहर के सुनियोजित विकास के लिये किया गया था। न्यास के प्रथम अध्यक्ष जन प्रतिनिघी श्री ज्ञान मल कोठारी थे। जिन्होने पूरे 3 वर्ष तक अध्यक्ष पद पर कार्य किया तथा बाद में जिलाधीश महोदय ने 1980 तक कार्य किया । न्यास में दूसरी बार जन प्रतिनिधी अध्यक्ष के रूप में 1981 में श्री कैलाश व्यास ने कार्यभार संभाला। नगर विकास न्यास भीलवाड़ा आज अपने पूरे यौवन पर कार्यरत हैं एवं राजस्थान में अपना अग्रणी स्थान रखती है। भीलवाड़ा सन् 2011 की जनगणना के अनुसार 4.50 लाख आबादी का यह कस्बा औद्योगिक नगरीय के रूप में तथा वस्त्र व्यवसाय के रूप में संपुर्ण भारतवर्ष में अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है।